e-RUPI kya hai? Kaise use kiya jata hai?

Spread the love

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भारत को Digitalization की ओर अग्रसर करने के लिए Digital India Program चलाया जिसके तहत उन्होंने भारत को डिजिटल पेमेंट सिस्टम  को ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करने की सलाह दी और पेपर के प्रयोग को कम  करने की सलाह दी। अब और एक नया डिजिटल पेमेंट सिस्टम को  2 अगस्त 2021 को launch किया जिसका नाम है  e- RUPI Payment . अब जाहिर है कि आप इसके बारे में जानना चाहेंगे तो आइये यह जानेंगे कि e-RUPI क्या है और यह कैसे काम करता है। 

e-RUPI kya hai? Kaise use kiya jata hai?

 

e-RUPI क्या है?

ई-रूपी एक digital currency है जिसको हस्तांतरित करने के लिए एक app का निर्माण किया गया है। इस app के द्वारा लाभार्थी को direct भेजा फण्ड भेजा जायेगा। यह एक prepaid gift वाउचर की तरह काम करेगा और इसे sms स्ट्रिंग अथवा QR code  system के द्वारा लाभार्थी के मोबाइल पर भेजा जा सकेगा।
इस prepaid gift voucher का इस्तेमाल आप बिना किसी डेबिट या क्रेडिट कार्ड,मोबाइल एप्प या इंटरनेट बैंकिंग के कर सकते हैं। इस प्रणाली में लाभार्थी की पहचान उसके उसके मोबाइल नंबर से होगी और लाभार्थियों और सेवा प्रदान करने वालो को इसी प्रणाली के तहत जोड़ा जायेगा।

इ रूपी के क्या उद्देश्य हैं ?

यह सिस्टम NCPI के द्वारा UPI प्लेटफार्म पर जारी किया गया है इसके साथ कई बैंको को जोड़ा गया है और इन बैंकों को जारीकर्ता के रूप में एक प्रमुख हिस्सा बनाया गया है  ताकि ये बैंक इ रूपी के voucher को आम जनता के लिए जारी कर सके।
इसका उद्देश्य यह है कि इस प्रणाली के द्वारा जारी किये गए वाउचर का इस्तेमाल केवल वही व्यक्ति कर सकता है जिसे इ रूपी वाउचर आवंटित किया गया है।  पीएमओ की ओर से जारी किये गए बयान में यह कहा गया है कि  सरकार इस प्रणाली का उपयोग साकार इस प्रणाली का उपयोग आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, उर्वरक सब्सिडी आदि में भी कर सकते हैं।
 

ई-रूपी  सिर्फ सरकारी उपयोग के लिए नहीं है बल्कि उन संगठनों के लिए है जो किसी भी मामले में लोगों को  मदद करना चाहते हैं। किसी विशिष्ट कार्य के लिए दी गई राशि का उपयोग विशिष्ट तरीके से किया जाएगा। अगर हम ई-रूपी  सेवाओं के बारे में बात करते हैं, तो यह सेवाओं के प्रायोजकों को लाभार्थियों और सेवा प्रदाताओं के साथ बिना किसी physical इंटरफेस के डिजिटल तरीके से जोड़ता है।

 

लाभार्थियों को गोपनीय रखना भी  सुरक्षित है। लेन-देन की प्रक्रिया बहुत तेज है, क्योंकि वाउचर में आवश्यक राशि पहले से ही जमा रहती  है। यहां तक कि corporates  भी ई-रूपी  से लाभान्वित हो सकते हैं। वाउचर रिडीम process को जारीकर्ता द्वारा ट्रैक किया जा सकता है।ई-रूपी की मदद से त्वरित, सुरक्षित और संपर्क रहित वाउचर वितरण किया जा सकता है। ई-रूपी  मोबाइल ऐप  फाइल ऑनलाइन उपलब्ध होने के बाद प्राप्त करें एवं इसका लाभ लें। 

 
इसमें मातृ एवं शिशु कल्याण योजनाओं, टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों के तहत दवाएं और पोषण संबंधी सहायता प्रदान की जाएगी ताकि दी जाने वाली सहायता सीधे लाभार्थी तक पहुंचे।

e rupi के क्या लाभ हैं ?

  • इ रूपी सीधे लाभार्थी के पास जाता है और किसी बिचौलिए का इसमें कोई काम नहीं रह जाता है। कोई भी बीच आदमी इसका पैसा नहीं खा सकता है।
  • इ रूपी गिफ्ट कार्ड टेक्नोलॉजी के अंतर्गत आता है तो यदि आप किसी संस्था को इसका code दिखाते हैं तो यह तुरंत आपको अमाउंट में कन्वर्ट करके अपना पैसा काट लेंगे जैसे कि अस्पतालों में और आप इसको किसी दूसरे purpose के लिए use नहीं कर सकते।
  • यह तुरंत, safe और contactless पेमेंट का नया तरीका है।
  • वाउचर रीडीम करने की प्रक्रिया को जारी करने वाले के द्वारा track किया जा सकता है।
 

इ रूपी जारी करने वाले बैंक

बर्तमान में इ रूपी जारी करने वाले बैंक निम्नलिखित हैं
  1. Axis Bank
  2. Bank of Baroda
  3. Canara Bank
  4. HDFC Bank
  5. ICICI Bank
  6. Indusind Bank
  7. Indian Bank
  8. Kotak Bank
  9. Punjab National Bank
  10. State Bank of India
  11. Union Bank of India
ये भी पढ़ें
दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको अब यह पता चल गया होगा कि e-RUPI क्या है और यह कैसे काम करता है साथ ही साथ यह भी मालूम हुआ होगा कि सरकार को इस payment mode को किस उद्देश्य से बनाया है और इससे आप जनता को क्या लाभ मिलता है  यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि वे भी इन सब चीजों से update रहें।

Spread the love

Leave a Comment