E- SIM Kya Hai? Yah Kaise kam karta hai?

Spread the love

दोस्तों, आज के इस article में हमलोग इ सिम के बारे में बात करने वाले हैं सबसे पहले मिनी सिम लांच हुआ उसके बाद micro sim और nano sim  . ये सिम बदलते हुए अपने आकार में भी छोटे होते गए। अब जमाना आ गया है E sim का और इसमें तो सिम ही गायब है तो चलिए बिना देरी करते हुए जानते है के E sim  क्या है और यह कैसे काम करता है ?

 

ई सिम क्या है?

सभी फ़ोन को सिम कार्ड की जरुरत होती है पर आजतक हमने देखा है कि यूजर फिजिकली एक सिम कार्ड खरीदता हैं और उसे फ़ोन पर insert करता है। 

ई सिम एक ऐसा सिम है जो मोबाइल यंत्र के अंदर ही बना होता है और आप इस सिम  को किसी भी network provider के साथ कनेक्ट कर सकते हैं। 

यह सिम कार्ड पुराने सिम कार्ड की तरह ही काम करता है लेकिन आपको एक Physical sim card की आवश्यकता नहीं होती है। यह सिम कार्ड मोबाइल डिवाइस में पहले से ही इंस्टॉल होते हैं और जब आप किसी मोबाइल को खरीदते हैं तो इसमें आप केवल किसी ऑपरेटर  को रजिस्टर करके अपना इ सिम का profile लगाते हैं। 

 

यह तकनीक सूचना एवं प्रौद्योगिकी  के विकास में अगला कदम है आजकल के कुछ मोबाइल डिवाइस लैपटॉप एवं अन्य devices ई सिम से लैश होते हैं। 

eSIM कैसे काम करता है?

इस सिम के लांच हुए तकरीबन 1 साल के आसपास हो रहे हैं परंतु ई सिम का बाजार अभी-अभी कुछ तेज होता हुआ दिखाई दे रहा है। इ सिम को हमें मोबाइल डिवाइस पर इन्सर्ट करना नहीं पड़ता है परन्तु यह पहले से ही मोबाइल के सर्किट में मौजूद रहता है। इस सिम में आप अपने प्रोफाइल को इनस्टॉल कर सकते हैं और किसी भी नेटवर्क जो आपको सही लगे उससे connect कर सकते हैं। 

यह संभव इस तरह होता है कि सिम के स्थान पर एक micro chip लगा दिया जाता है यह माइक्रो चिप वही information carry करता है जो कि एक सिम carry करता है पर इस माइक्रो चिप को rewrite किया जा सकता है।  इस तरह user को  प्लास्टिक से बना हुआ कोई सिम कार्ड नहीं पकड़ना पड़ेगा और मोबाइल के बैक कवर या तो सिम ट्रे को खोलकर दूसरा सिम लोड करने का झंझट ख़तम हो जायेगा। 

e SIM का full from क्या है ?

Embeded Subscriber Identification Module

E SIM के एडवांटेज क्या हैं ?

  • चूँकि इ सिम एक छोटे से chip में समाहित रहता है इसलिए यह फिजिकल सिम से बहुत कम स्थान घेरता है। इस जगह का इस्तेमाल मोबाइल के अन्य चीजों को जैसे कि बैटरी के size को बढ़ाने के लिए किया जा सकता है।
  • इ सिम के इस्तेमाल करने से बार बार सिम स्लॉट को खोलकर फिर दूसरा लगाने का झंझट ख़तम हो जायेगा।
  • इ सिम में यदि आप किसी दूसरे network में अपने सिम को port करना चाहते हैं तो आपको बहुत लम्बा इंतजार नहीं करना पड़ेगा क्योंकि ये remote Provision किया जा सकता है।
  • इ सिम वाले फ़ोन पर आप एक ही चिप में बहुत सारे networks के सिम रख सकते हैं
  • Travel करने वालों के लिए इ सिम का विकल्प अच्छा है क्योंकि वे जहाँ कही भी जायेंगे वहां के सिम को download कर activate कर लेंगे।
  • आपको इ सिम खरीदने के लिए दुकानों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे यह आपको ऑनलाइन डिलीवर हो जायेगा।

E SIM के Disadvantages क्या हैं ?

  • अगर आपके फ़ोन की बैटरी ख़तम हो जाती है तो या फ़ोन हो जाती है तो आप किसी और के फ़ोन में सिम डालकर बात नहीं कर पाएंगे।
  • इ सिम की फैसिलिटी सभी फ़ोन में उपलब्ध नहीं होगी यह कुछ महंगे दाम के फ़ोन पर ही उपलब्ध हैं।
  • जो लोग हर दो या तीन महीने में फ़ोन बदलते रहते है लिए दिक्कत होगी क्योंगी उन्हें नए मोबाइल पर बार बार सिम इनस्टॉल करवाना पड़ेगा।
  • आपके फ़ोन के डैमेज होने पर आपको नया फ़ोन लेना पड़ेगा क्योंकि आप दूसरे किसी के फ़ोन पर इस सिम को इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।

भारत में कौन-कौन से मोबाइल फोन इ सिम को support करते हैं?

 

 बाहर मोबाइल फोन में से निम्नलिखित फोन सिम को सपोर्ट करते हैं इसके बारे में नीचे जानते हैं

 

apple के फ़ोन जो इंडिया में इ सिम सपोर्ट करते हैं

  1. Apple iPhone XR
  2. Apple iPhone XS
  3. Apple iPhone XS Max
  4. Apple iPhone 11
  5. Apple iPhone11Pro
  6. Apple iPhone 11 Pro Max
  7. Apple iPhone SE(2nd Generation)
  8. Apple iPhone 12 Mini
  9. Apple iPhone 12
  10. Apple iPhone 12 Pro
  11. Apple iPhone 12 Pro Max

 

Samsung के फ़ोन जो India में इ सिम सपोर्ट करते हैं

  1. Samsung Galaxy Z Flip
  2. Samsung Galaxy Fold
  3. Samsung Galaxy Note 20 Ultra 5G
  4. Samsung Galaxy Note 20
  5. Samsung Galaxy Z Fold 2

 

Google Pixel के फ़ोन जो India में इ सिम सपोर्ट करते हैं

  1. Google Pixel 3
  2. Google Pixel 3 XL
  3. Google Pixel 3 A
  4. Google Pixel 3 A XL
  5. Google Pixel 4 A

Motorola के फ़ोन जो India में इ सिम सपोर्ट करते हैं

  1. Motorola Razr
  2. Motorola Next Gen Razr 5G


भारत में  कौन कौन से ऑपरेटर इ सिम provide करते हैं

  1. Jio
  2. Airtel
  3. Vodafone- Idea (Only on Prepaid )

अपने इ सिम प्रोफाइल को कैसे डिलीट करें (How to remove/delete an eSIM profile)

आप अपने इ- सिम के प्रोफाइल को डिलीट भी कर सकते हैं जब हम नए मोबाइल या अपना सिम change करना चाहते हैं। यह नीचे iPhone 11 Pro पर कैसे डिलीट कर सकते हैं उसकी प्रक्रिया दी हुई है।

 

(नोट : आप अपना प्रोफाइल डिलीट कर रहे हैं subscription नहीं )

 

1 अपने homescreen पर जाकर settings वाले ऑप्शन पर जाना है 

2. अब नीचे आके celluler को चुनें। 

3. फिर ESIM को चुनें। 

4. फिर Remove Celluler Plan पर क्लिक करें। 

5. अब Remove T-Mobile Plan को चुनें। 

6.  आपका इ सिम प्रोफाइल डिलीट हो चूका है 

 

इस तरह आप अपना इ  सिम प्रोफाइल डिलीट कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें-

इ सिम कैसे मिलेगा?(How to get an e sim ?)

1. Reliance Jio के इ सिम को प्राप्त करने के लिए आपको अपने फोटो एवं identity proof को लेकर नजदीकी store में जाना होगा वहीं से आपको इ सिम दिया जायेगा।
2. एयरटेल के इ सिम प्राप्त करने आपको कही जाने की जरुरत नहीं आप यह घर बैठे ही कर सकते हैं
  • सबसे पहले आप अपने मोबाइल पर <esim >< space > Your email ID को एसएमएस द्वारा 121 नंबर पर भेजिए।
  • उसके बाद आपको एयरटेल की तरफ से sms आएगा confirm करने के लिए मैसेज का उत्तर “1” लिखकर भेज दें।
  • फिट एयरटेल के तरफ से एक कॉल आएगा उसे भी “1” दबाकर confirm करें।
  • उसके बाद आपको एक ईमेल आएगा उसमे QR code रहेगा उसे उस मोबाइल से scan करें
  • आपका इ सिम एक्टिवटे हो गया है।
दोस्तों आशा करता हूँ आपको यह पोस्ट informative लगी होगी और इस बात को जरूर जान गए होंगे कि इ सिम क्या है और कैसे काम करता है ? ऐसा लगता है कि आने वाली पीढ़ी इ सिम का ही इस्तेमाल करेंगी क्योंकि यह ज्यादा सुरक्षित जान पड़ता है। यदि आपको भी इ सिम use करने की इच्छा है तो आप भी इसे खरीद सकते हैं।

Spread the love
Hindime: