NCR Full Form क्या है ?

हमने बहुत बार सुना है की है अक्सर न्यूज़ मैं या फिर समाचार पत्र पढ़ते वक्त हम इस शब्द से अक्सर  सुनते हुए गुजरते हैं।  पर क्या कभी आपने यह सोचा कि एनसीआर का मतलब क्या होता है एनसीआर किस शब्द के लिए खड़ा होता है या एनसीआर का फुल फॉर्म क्या होता है। यदि आपने एनसीआर के बारे में सुना तो है पर इसके बारे में कोई विशेष ज्ञान नहीं है तो आप सही जगह पर आए हैं आज हम एनसीआर शब्द किसके लिए खड़ा है उसके बारे में बात करेंगे इसके लिए हम नीचे की ओर चलेंगे।

एनसीआर का फुल फॉर्म क्या होता है?What is the full form of NCR?

 एनसीआर का full form कैपिटल रीजन होता है और Hindi में इसका मतलब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र। नेशनल कैपिटल रीजन राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र को बनाने क्या जरुरी होता है ? हमने सुना है राज्य बनते हैं, जिले बनते हैं, प्रखंड बनते हैं पर एनसीआर बनाने का प्रावधान क्या  है? चलिए इसे भी हम जानते हैं।

जब भी कोई नया  District या Block का विकास होता है तो उस समय उस क्षेत्र की जनसंख्या की दबाव को देखते हुए एक नया जिला या एक नया प्रखंड का बनाया जाता है। जिससे कि क्षेत्र में निवास करने वाले सारे लोगों को अच्छी सुविधा एवं बुनियादी  आवश्यकताओं को पूरा किया जा सके एवं बुनियादी ढांचा का भी विकास हो सके।

 दिल्ली हमारे देश की राजधानी है।   हमारे देश के सारे मुख्यालय एवं कार्यालय वहीं पर मौजूद हैं।   जाहिर है कि वहां की जनसंख्या अधिक ही होगी क्योंकि राष्ट्रीय राजधानी की होने के नाते बहुत सारे लोग रोजगार की तलाश में और अन्य कामों के लिए इस क्षेत्र में आते जाते रहते हैं इस तरह जनसंख्या  की  दबाव को संभालने के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र घोषित किया जाता है   ताकि जो भी इस क्षेत्र में रहें उन सभी लोगों को सभी बुनियादी सुविधाएं हासिल हो और इस क्षेत्र की बुनियादी ढांचा को भी  सशक्त किया जा सके।

सन 1985 में राष्ट्रीय राजधानी योजना क्षेत्र के विकास बोर्ड का गठन किया गया था जिसका उद्देश्य था कि इस क्षेत्र का development एवं भूमि की उपयोग का नियंत्रण करना और इसके लिए नीति बनाना था। उस समय राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में Delhi, Noida, Faridabad, Gaziabad और गुड़गांव शामिल थे। अब यह दिल्ली के पूरे क्षेत्र को और कुछ पड़ोसी राज्यों के क्षेत्र को भी कवर करता है, जिनमें Haryana, Rajasthan और Uttar Pradesh शामिल हैं इन तीनों राज्यों में से कुल 23 जिले इसमें शामिल हैं,

राजस्थान के जिले जो एनसीआर में शामिल है

  • भरतपुर
  •  अलवर

उत्तर प्रदेश के जिले जो एनसीआर में शामिल है

  • मुजफ्फरनगर
  •  हापुड़
  •  मेरठ
  •  गौतम बुध नगर
  • गाजियाबाद
  •  बागपत
  •  बुलंदशहर

हरियाणा के जिले जो एनसीआर में शामिल हैं

  • रेवाड़ी
  •  रोहतक
  •  सोनीपत
  • मेवात
  •  पलवल
  •  जींद
  • कामुक
  • भिवानी
  •  फरीदाबाद
  •  गुड़गांव
  • झज्जर
  •  महेंद्रगढ़

दोस्तों दिल्ली  की जनसंख्या बहुत बढ़ती ही जा रही है और अब तो यह National Capital Region अलवर तक पहुंच गया है  भविष्य के बारे में हम सोच सकते हैं कि यह कहां तक बढ़ सकती है दिल्ली के हैबिटेट सेंटर में इसके बारे में योजना बनाया जा रहा है, ताकि हम इसे भविष्य में अच्छी तरह से निपट सकें योजना में भूमि, आवास, परिवहन, विरासत, पानी आदि के बारे में डाटा एकत्र किया जा रहा है, ताकि योजना का कार्यान्वयन अच्छी तरह से हो सके यह मास्टर प्लान 2021 तक में तैयार किया जाना है।

दोस्तों, अब तो आपको यह समझ में आ ही गया होगा कि दिल्ली एनसीआर का मतलब क्या होता है। या एनसीआर का फुल फॉर्म क्या होता है इसे मुख्यतः दिल्ली में केवल एक जगह से जनसंख्या के दबाव को विस्तृत करने के लिए बनाया गया एक योजना है जिससे कि एनसीआर क्षेत्र में रहने वाले लोगों को बुनियादी  सुविधाएं बहाल की जा सके।

Leave a Comment