Article kaise likhe?

जब से भारत में रिलायंस जियो ने इंटरनेट को सस्ता कर दिया है तब से बहुत सारे लोग इंटरनेट को अच्छी तरह से यूज कर पा रहे हैं। चाहे मूवी देखना हो या कोई content खोजना हो या किसी चीज के बारे में जानकारी प्राप्त करना हो तो हम सीधे ही गूगल पर आ जाते हैं और google से अपने प्रश्न का हल search कर लेते हैं। पर जब से इंटरनेट आया है  तब से लोग ऑनलाइन काम के बारे में सुन रहे हैं लोग दफ्तर ना जाकर घर से ही अपना काम कर रहे हैं । इसी के साथ और एक नया trend चला है वह है अर्न मनी ऑनलाइन इंटरनेट से घर बैठे ही पैसे कैसे  कमाए।

बहुत से लोग गूगल पर या यूट्यूब पर यह सर्च करते हैं कि घर बैठे इंटरनेट से कैसे पैसे कमाए इसमें  सबसे पहले लिस्ट पर आता है  ब्लॉगिंग फिर आता है यूट्यूब फिर अन्य अन्य काम आते हैं। ब्लॉग्गिंग  एक प्रकार से यह बहुत ही सरल प्रक्रिया जान पड़ता है। दिक्कत तो तब आती हैं जब हम अपने ब्लॉग को लिखने बैठते हैं और सोचने लगते हैं कि शुरू कहाँ से करें। इस चरण में हम कोई तीसरे person को hire नहीं कर सकते और सब काम हमें अकेले ही करना पड़ता है। आज हमलोग इसी पर चर्चा करने वाले हैं कि एक अच्छा blog Post आर्टिकल कैसे लिखा जाता है

आर्टिकल लिखना वैसे तो बहुत कठिन काम नहीं है परंतु जब कोई शुरुआत में लिखने बैठता है तो उसे यह समझ में नहीं आता कि शुरू कहां से किया जाए और अंत कहां पर किया जाए दोस्त हो यदि आप भी आर्टिकल राइटिंग नहीं जानते हैं यह ब्लॉगिंग शुरू कर रहे हैं तो यह आर्टिकल आपको आर्टिकल कैसे लिखते हैं उसके बारे में जानकारी प्रदान करने वाला है तो आइए विस्तार से इसे जानते हैं।

आर्टिकल क्या होता है?

article kaise likhen

article को हिंदी में लेख कहा जाता है। आर्टिकल  या लेख  जानकारी का वह टुकड़ा है जिससे हम किसी भी चीज के बारे में आर्टिकल को पढ़ने पर जान पाते हैं कि  उस आर्टिकल पर क्या जानकारी प्रदान की गई है। कोई भी आर्टिकल आम जनता के द्वारा आसानी से समझ में आने वाली भाषा में लिखा जाता है ताकि आप जो सन्देश लोगों तक पहुँचाना चाहते हैं वे उसे आसानी से समझ सकें।

किसी के पास आर्टिकल लिखने के लिए हुनर की जरूरत होती है परंतु आजकल अगर सही दिशा निर्देश दिए जाएं तो कोई भी आर्टिकल लिख सकता है बस उसे कुछ समय के लिए ट्रेनिंग की जरूरत होती है आगे हम बात करेंगे कि किन किन पहलुओं को  जानने पर हम एक बेहतरीन hindi आर्टिकल लिख सकते हैं।

आर्टिकल लिखने के तरीके(Article kaise likhe?)

1.अपना सही टॉपिक चुने

आप अपना ऐसा heading या टॉपिक चुनें जो आपके पसंद है जिसमे आपकी रूचि है तब आप उस विषय में अच्छा से काम कर सकते हैं। यह सही है कि लोग किसी भी टॉपिक में आर्टिकल लिखने में सक्षम होते हैं पर वो लोग बहुत समय से लिखने का अभ्यास कर रहे होते हैं। पर जब आप शुरुआत में है तो वही टॉपिक लीजिये जो आपको अच्छा लगता है।यदि किसीआर्टिकल को लिखने में आपका मन नहीं लग रहा है तो वो आर्टिकल ग्रेट नहीं हो सकता है मतलब वो रीडर्स का भी अटेंशन नहीं खींच सकता है।इसके साथ साथ आपको यह भी देखना होगा की topic में कितना पोटेंशियल है तब ही आप अपने आर्टिकल में ट्रैफिक ला सकते हैं। आप जिस टॉपिक में लिख रहे है उस टॉपिक पर रिसर्च करना भी जरुरी ताकि आपको उस विषय में काफी जानकारी हासिल हो और उसे आप सही ढंग से लिख सकें।

 2.अपने आर्टिकल का ब्लूप्रिंट या आउटलाइन बनाएं

आप अपना टॉपिक चुन चुके हैं, अब लिखने की बारी आती है, परंतु आप ऐसे ही लिखना शुरु ना कर दे,  ऐसे लिखने से आपको पता नहीं चलेगा कि कहां पर किस पैराग्राफ है किस  तरह की जानकारी दी गई है। इसको अच्छी तरह सेअपने रीडर को समझने के हिसाब से  अपने टॉपिक का एक ब्लूप्रिंट बनाएं मतलब कि introduction से लेकर समापन तक का map बनाएं, जिससे कि आपका ऑडियंस टॉपिक की जानकारी सिलसिलेवार पैराग्राफ दर पैराग्राफ ले सके  और  उसे आर्टिकल को समझने में दिक्कत ना हो।

यदि आप अपने blog post का ब्लू प्रिंट या आउटलाइन नहीं बनाते हैं तो आप बहुत सी पॉइंट जिसको कि आप अपने ऑडियंस को समझाना चाहते हैं आप मिस भी कर सकते हैं। तो लिखने के लिए पहले आप अपने ब्लॉग या आर्टिकल का एक रफ कार्य की तरह पूरे ब्लॉक का नक्शा तैयार करें।

3. आर्टिकल कैसे लिखे अपने सर्च इंजन को ध्यान में रखकर

सर्च इंजन में SEO सबसे बड़ा महत्व है इसलिए आप ऐसी आर्टिकल लिखें जिससे कि पढ़ने वाले को पसंद हो, ऐसा आर्टिकल जिसको यूजर पसंद करते हैं उसको गूगल भी पसंद करता है। आप यह सुनिश्चित कर लें कि आप जो लिख रहे हैं उसमें उन सभी टॉपिक को ही शामिल करें जिसमें की आपकी ऑडियंस को पूरी जानकारी हासिल हो सके। इन सब को focus में रखने के साथ ही साथ आप यह भी ध्यान रखें कि आप अपने ब्लॉग के लिए keyword कैसे डाल रहे हैं। आप ब्लॉग तो writing कर रहे हैं परंतु सर्च इंजन के लिए यह भी जरूरी है कि आप गूगल के सर्च इंजन के हिसाब से कीवर्ड को भी अपने आर्टिकल में शामिल करें। इस कार्य के लिए आप ब्लॉग या आर्टिकल writing के पहले थोड़ी सी कीवर्ड रिसर्च कर लें तो यह आपको बहुत अच्छा रिजल्ट देगी।

पर हमेशा यह ध्यान में रहे कि आप उसे साधारण तरीके से अपने आर्टिकल में शामिल करें बहुत ज्यादा या बार-बार उसे शामिल ना करें नहीं तो इस तरह के लेख गूगल को पसंद नहीं होते हैं।

4.छोटे पैराग्राफ में लिखें

लंबी-लंबी पैराग्राफ writing करने पर पढ़ने वाले को बोरियत महसूस होती है इसलिए आप इसे छोटे छोटे पैराग्राफ में लिखें इससे रीडर की है दिमाग में इंटरेस्ट बना रहता है।

यदि इंटरनेट पर आप किसी दूसरे blogger के blog पोस्ट को देखते हैं या आर्टिकल को देखते हैं तो लोग बहुत छोटे-छोटे paragraph में लिखे होते हैं। आप यूजर की पढ़ने की ध्यान को नहीं भटकाने के लिए बुलेट प्वाइंट्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं या subheading का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जिससे पढ़ने वाले को आसानी हो सकती है।

5. अपने लेख में चित्रों का भी इस्तेमाल करें

अपनी लेखनी चित्रों का इस्तेमाल करने से पढ़ने वाले को image के द्वारा भी समझने की में मदद मिलती है और इस चित्र को देखते हुए वे पढ़ने के क्रम से थोड़ा ब्रेक भी ले लेते हैं जिससे कि वह जो बोरियत रहती है वह समाप्त हो जाती है और चित्र को देखने के बाद आगे की ओर पड़ने लगते हैं।

अगर आप किसी बिंदु को समझाना चाहते हैं तो आप कोई ग्राफ या चित्र का इस्तेमाल करें जिससे जो आप अपने audience समझाने वाले हैं वो बिंदु को आसानी से समझ सकें।

6.फिर से पढ़ें और अभ्यास करें

बहुत अच्छा आर्टिकल एक दिन में नहीं लिखा जा सकता है परन्तु practice हमें महान बनाता है इसलिए आप जब आर्टिकल लिख रहे होते हैं तो उसे दोबारा पढ़ें। आप कहीं गलत कर दिया हो तो उसे सुधारें, आपके वाक्यों को फिर से अच्छा से लिखें।आपके पॉइंट या बिंदु इधर-उधर हो गए हैं तो आप उसे क्रम में सजाएं । पुनः पढ़ें और देखें कि आपकी वाक्य एवं पूरा पैराग्राफ कैसे बने हैं। इस तरह से हमारे skill भी बढ़ते हैं और ब्लॉग पोस्ट के rank होने के चांस भी बढ़ते हैं।

दूसरों के द्वारा publish content को भी पढ़ें जिससे कि बहुत सारे आईडिया जो हमारे पास नहीं है वे उन लोगों के पास होतेहैं हम एक ही बार में बहुत बड़े जानकार या ज्ञानी नहीं बन पाते हैं पर धीरे-धीरे ही बन पाते हैं और यह ज्ञान हमें बहुत जगहों से बटोरना पड़ता है। ध्यान रहे के ये ज्ञान share करने से बढ़ता है।

ये भी पढ़ें

PGDCA Course Kya Hota hai?

जिओ Pos Plus Kya है?

समापन

वैसे तो आर्टिकल लिखना एक बहुत साधारण  एवं आसान प्रतीत होती है तब तक जब तक कि से आप कभी लिखे हुए  नहीं होते हैं पर समय और अभ्यास के साथ-साथ यह आसान बन जाता है।  लगातार कोशिश करने से एक दिन आप  बड़े राइटर की तरह लिख सकते हैं। यदि मैंने आर्टिकल कैसे लिखे के बारे में किसी पॉइंट इस लेख में शामिल नहीं किया है तो आप मुझे कमेंट करके नीचे बता सकते हैं जिससे कि मैं कौन सभी चीजों को आपके लिए और बाकी सभी ऑडियंस के लिए शामिल सकूं और एक बेहतर blog बना सकूँ।

 

 

Leave a Comment